पुरालेख

मासिक पुरालेख: फ़रवरी 2013

dand ke alawa ,samaj aur sarkar dono ko yah sochana aur kuchh karana chahiye ki vyakti ke charitra me girawat aur jeewan mulyon ka patan aakhir kyon hua hai?

छत्तीसगढ़ी गीत संगी ... Chhattisgarhi Geet Sangi

आदमी के अंदर का जानवर जब-जब जगता है, तब-तब ऐसी घटना होती है जिसे एक सभ्य समाज के लिए कलंक कहा जा सकता है। विगत दिनों हुए बलात्कार की घटनाएं निश्चित ही हमें शर्मसार करती है। समाज में ऐसे जानवरों के लिए कोई स्थान नहीं होना चाहिए। जानवर एकबार जब आदमी को मारकर खा जाता है तो वो आसान शिकार के रूप में आदमीयों पर बारबार हमले करता है, उन्हें खाने लगता है और आदमखोर हो जाता है। आदमीयों के सुरक्षा हेतु आदमखोर को अंत में गोली मारनी ही पड़ती है। आज समय आ गया है ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए ऐसे आदमखोर आदमियों से समाज की सुरक्षा हेतु कानून में आवश्यक संशोधन कर उन्हें फांसी पर लटका दिया जाए।

Death for Rape

आज जो गीत आपको सुना रहें है वो बलात्कार पीड़ित लड़की की व्यथा-कथा को बयां करती है, जिसे गाया है श्रीमति कुलवंतीन मिर्झा ने, श्रीमति कुलवंतीन मिर्झा…

View original post 562 और  शब्द

ya suturmurg ki tarah sir gada ke jina, pashuo ki tarah se jeewan jina.

आखरमाला

धर्म एवं अभिजन संस्कृति– – चार

जीवन की अंतहीन मुश्किलों से बचाव के लिए जनसाधारण के पास केवल तीन रास्ते होते हैं. पहला शराब की दुकान की ओर निकल जाना, दूसरा धर्म की शरण लेना और तीसरा सामाजिक क्रांति के रास्ते राह प्रशस्त करना.1मिखाइल बकुनिन

पंद्रहवीं शताब्दी में यूरोप और एशियाई देशों में जो परिवर्तनकामी आंदोलन खड़े हुए उनमें परिस्थितिगत अंतर भले हो, मगर लक्ष्य सभी का कमोबेश एक था. वह अस्वाभाविक भी नहीं था. इसलिए कि अर्थव्यवस्था के वैकल्पिक साधनों के अभाव में सभी देशों की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित थी. कृषिकर्म के लिए सबको प्रकृति पर आश्रित रहना पड़ता था. हालांकि भौगोलिक परिस्थितियां भिन्न थी और तज्जनित चुनौतियां भी. किंतु उत्पादन के साधनों में समानता के कारण उनके विकास का स्तर लगभग समान था. थोड़ाबहुत अंतर रहा तो उसका कारण भौगोलिक और स्थानीय…

View original post 5,534 और  शब्द